Taj mahal Latest News उत्तर प्रदेश स्थित आगरा में ताजमहल के 22 कमरों को खोले जाने पर (Allahabad High court) अदालत से मांग की गई।

ताजमहल के इतिहास का पता लगाने के लिए इमारत में बने 22 कमरों को खुलवाने का आदेश देने का आग्रह करते हुए याचिका दायर की थी।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ( ASI) के अधिकारियों ने बताया  कि याचिका में किए जा रहे दावे गलत हैं। याचिका में कमरों में संभावित रूप से हिंदू देवी-देवताओं की मूर्ति होने की बात कही गई थी।

Times of India की रिपोर्ट के अनुसार, taj mahal news के बारे में अधिकारियों ने बताया कि पहला ये 22 कमरे ‘हमेशा के लिए बंद नहीं हैं' और इन्हें हाल ही में संरक्षण के लिए खोला गया था।

भाजपा नेता डॉ रजनीश सिंह" ने याचिका में दावा किया था कि ताजमहल के बंद दरवाजों के भीतर भगवान शिव का मंदिर है।

भाजपा नेता ने "High Court" से आग्रह किया कि एक तथ्यों का पता लगाने वाली समिति बनाकर ताजमहल के  करीब बंद 22  दरवाजों को खुलवाए जिससे सत्यता सामने आ सके।

याचिका दायर करने के बाद केंद्र व राज्य सरकार की तरफ  से वकील पेश हुए और याचिका का विरोध किया। कोर्ट ने शुरूआती सुनवाई के बाद याचिका को खारिज कर दिया।

याचिका खारिज होने पर तथा ‘tajmahal news’ के 22 कमरों का सर्वे न होने पर भाजपा नेता डॉ. रजनीश सिंह ने कहा कि हम सर्वे के मामले को अब सुप्रीम कोर्ट ले जाएंगे।